Ads By Google info

ताजा खबरें
Loading...
विज्ञापन
Ads By Google info

अनमोल विचार

Subscribe Email

ताजा लेख आपके ईमेल पर



पसंदीदा लेख

30 साल बाद , चांद पर दुर्लभ ग्रहण

print this page
इस महीने चांद पर दुर्लभ ग्रहण लगने वाला है। 30 साल बाद यह पहली बार होगा कि दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में लोग 27 सितंबर को सुपरमून का दीदार करेंगे। यह सुपरमून पूर्ण चंद्रग्रहण के साथ दिखाई देगा। हालांकि यह भारत में दिखाई नहीं देगा। 
         वैसे यह पूर्ण ग्रहण 1 घंटे 12 मिनट तक रहेगा और उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, यूरोप, अफ्रीका, पूर्वी पसिफिक और दक्षिण एशिया के कुछ भागों में दिखाई देगा। पृथ्वी की छाया सुपरमून की रोशनी को धीमे-धीमे ढकना शुरू करेगी जिसकी शुरुआत रात 8.11 (भारतीय समयानुसार 28 सितंबर सुबह 5.11 मिनट पर) पर होगी। 
Rare-Eclipse-on-the-moon- 30 साल बाद , चांद पर दुर्लभ ग्रहण           बुधवार को हिंदू पंचांग के अनुसार, भाद्रपद मास की शुक्लपक्ष तृतीया तिथि यानी हरतालिका तीज रहेगी। सूर्योदय 6.17 बजे व सूर्यास्त 6.27 बजे होगा। चित्रा नक्षत्र रात 8.45 बजे तक रहेगा। बुध, चंद्र व राहु तीनों एक साथ कन्या राशि में और सूर्य, मंगल व गुरु सिंह राशि में रहेंगे। मंगल ने कर्क से सिंह राशि में प्रवेश कर लिया है। इन ग्रहों के एक साथ होने कुछ राशियों पर इनका सामान्य, शुभ प्रभाव तो कुछ पर अशुभ प्रभाव भी देखने को मिल सकता है। बुधवार को कालदंड नाम का अशुभ योग भी रहेगा। इसलिए, गोचर को देखते हुए सभी राशि वाले अपने धन व सामाजिक मामलों में निर्णय सोच समझकर लें। धर्म ग्रंथों में शनि को न्याय का देवता कहा गया है, क्योंकि मनुष्यों को उनके अच्छे-बुरे कर्मों का दंड शनिदेव ही देते हैं। 
 ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, फिलहाल शनि वृश्चिक राशि में स्थित हैं। इस समय तुला, वृश्चिक व धनु राशि पर शनि की साढ़ेसाती तथा सिंह व मेष राशि पर शनि की ढय्या का प्रभाव है। 
  1. मेष राशि ---इस समय आप पर शनि की ढय्या का असर है। 
  2. वृषभ राशि – इस वर्ष के शेष महीनों में शनिदेव आपकी राशि से गोचरवश सातवें स्थान पर गतिशील रहेंगे। इसके कारण आपके स्वास्थ्य में सुधार रहेगा, लेकिन परिवार में किसी को रोग होने की संभावना बन सकती है, जिसके कारण आप चिंतित रहेंगे। 
  3. मिथुन राशि--- का आने वाला समय मिथुन राशि वालों के लिए उन्नति प्रदान करने वाला रहेगा। 
  4. कन्या राशि ----नौकरी में कोई महत्वपूर्ण पद या कार्य आपको मिल सकता है। कुछ लोग आपकी तरक्की से जलकर षड़यंत्र रच सकते हैं।। 
  5. तुला राशि ---वालों पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव आने वाले समय में तुला राशि पर साफ-साफ दिखाई दे रहा है। 
  6. वृश्चिक राशि --- आने वाले महीनों में वृश्चिक राशि वालों पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव रहेगा। 
  7. धनु राशि --- आप जी-तोड़ मेहनत करेंगे, लेकिन परिणाम आपके पक्ष में नहीं रहेंगे।
  8. मीन राशि --- स्वास्थ्य व पारिवारिक सुख की दृष्टि से भी आने वाला समय आपके लिए शुभ रहेगा। पूर्ण चंद्रग्रहण की स्थिति में चंद्रमा एक घंटे से भी ज्यादा समय तक वास्तविकता से ज्यादा बड़ा दिखाई देगा। 

        नासा गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर, मैरीलेंड के डेप्युटी प्रॉजेक्ट वैज्ञानिक नोआह पेट्रो कहते हैं कि चूंकि चंद्रमा की ऑर्बिट एक घेरा नहीं है, इसलिए चंद्रमा अपने कक्ष में अन्य समय के तुलना में कुछ समय के लिए पृथ्वी के ज्यादा पास दिखाई देगा। अपने एक बयान में उन्होंने कहा कि जब चंद्रमा सबसे पास रहता है तब यह पेरिजी और जब सबसे दूर रहता है तब अपोजी कहलाता है। 
    27 सितंबर को हम पेरिजी का चंद्रमा देखेंगे जो कि सालभर का सबसे समीप का चंद्रमा होगा। अपोजी की तुलना में पेरिजी में चंद्रमा पृथ्वी के 31,000 मील ज्यादा पास होता है। यह दूरी पृथ्वी की एक पूरी परिधि के बराबर ठहरती है। इसके मंडराने की क्षमता की वजह से अपोजी के चंद्रमा की तुलना में पेरिजी चंद्रमा 14 प्रतिशत ज्यादा बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला दिखाई देता है। जिसकी वजह से इसे सुपरमून कहा जाता है। पेट्रो कहते हैं कि वास्तव में चंद्रमा में भौतिक रूप से कोई बदलाव नहीं आता है यह मात्र कुछ बड़ा दिखाई देता है। यह कोई नाटकीय घटनाक्रम नहीं है, लेकिन यह ज्यादा बड़ा दिखाई देता है।
Edited by: Editor

आपके विचार

हिंदी में यहाँ लिखे
Ads By Google info

वास्तु

हस्त रेखा

ज्योतिष

फिटनेस मंत्र

चालीसा / स्त्रोत

तंत्र मंत्र

निदान


ऐसा भी होता है?

धार्मिक स्थल

 
Editor In Chief : Dr. Umesh Sharma
Copyright © Asha News . For reprint rights: ASHA Group
My Ping in TotalPing.com www.hamarivani.com रफ़्तार www.blogvarta.com BlogSetu