Ads By Google info

ताजा खबरें
Loading...
विज्ञापन
Ads By Google info

अनमोल विचार

Subscribe Email

ताजा लेख आपके ईमेल पर



पसंदीदा लेख

9 मार्च 2016 (बुधवार) को होगा खग्रास सूर्य ग्रहण

print this page
विशेष---इस वर्ष का यह सूर्य ग्रहण 320 साल बाद पंचग्रही योग में सूर्य ग्रहण, 49 मिनट दिखाई देगा ग्रहण।। 
    March-9-2016-Wednesday-will-be-the-solar-eclipse-Kgras-9 मार्च 2016 (बुधवार) को होगा खग्रास सूर्य ग्रहण
  •    फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या पर 9 मार्च 2017 को 320 साल बाद कुंभ राशि पर पंचग्रही योग में सूर्य ग्रहण होगा। खगोलीय घटना का यह दुर्लभ नजारा ग्वालियर-चंबल संभाग में सिर्फ 12 मिनट दिखाई देगा। ज्योतिष के अनुसार उज्जैन सिंहस्थ 2016 से पहले पंचग्रही योग में सूर्य ग्रहण शुभ फलदायी नहीं है। इसके कारण जीवन उपयोगी वस्तुएं महंगी होंगी। ज्योतिषाचार्य पण्डित "विशाल" दयानन्द शास्त्री के अनुसार, यह खंड ग्रास सूर्य ग्रहण फाल्गुन अमावस्या (बुधवार ) 9 मार्च 2016 के दिन पड़ेगा। भारत के पश्चिमोत्तर भाग को छोड़ कर यह ग्रहण पूरे देश में दिखाई देगा। 
  •  इस ग्रहण का सूतक 8 मार्च 2016 को शाम 5.04 बजे से प्रारंभ होकर ग्रहण के मोक्ष के बाद समाप्त होगा।। 
  •  सूर्य ग्रहण का स्पर्श 9 मार्च को 2016 सुबह 5.36 बजे, मध्य 6.10 बजे तथा मोक्ष 6.46 बजे होगा। 
  •  ग्रहण का परम ग्रास 22 प्रतिशत रहेगा। उज्जैन में सूर्योदय 6.34 बजे होगा । उज्जैन और आसपास के क्षेत्र में यह ग्रहण 12 मिनट ही दिखाई देगा।
  •  यह ग्रहण पूर्वा भाद्र पक्ष नक्षत्र में साध्य योग और कुंभ राशि में स्थित चंद्र के साथ घटित होगा।
  •  इस समय आकाश में 5 ग्रह केतु, बुध, सूर्य, शुक्र और चंद्र साथ रहेंगे। इन ग्रहों पर शनि-युत मंगल की दृष्टि भी है। 
  •  9 मार्च को 2016 के इस सूर्य ग्रहण के बाद 23 मार्च 2016 को भी ग्रहण होगा जो की चंद्र ग्रहण पड़ेगा, जो 4 घंटा 15 मिनट का होगा। 
  •  9 मार्च 2016 को पड़ने वाले ग्रहण के लिए सूतक 8 मार्च को शाम 5.04 बजे लग जाएगा, यानि 8 मार्च 2016 को शाम 5 बजे से मंदिर के पट बंद होने के बाद दूसरे दिन सूर्य ग्रहण की समाप्ति के बाद खुलेंगे। 

          पण्डित "विशाल" दयानन्द शास्त्री के अनुसार फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या पर ग्रहण का होना शुभ नहीं माना जाता है। बुधवार का दिन, कुंभ राशि, पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र तथा पांच ग्रहों के साथ ग्रह गोचर में गुरु-राहु का समसप्तक दृष्टि संबंध अनिष्टकारी माना जाता है। यह योग 320 साल बाद बन रहा है। इस ग्रहण के प्रभाव स्वरूप राजनीतिक उठा- पटक अधिक रहने के साथ ही महंगाई बढ़ेगी। 
 **** ग्रहण के दौरान ये करें उपाय--- 
जिन जातकों की राशि में ग्रहण के कारण कष्ट है, उन्हें तीर्थ जल से स्नान, जप, दान, शिवार्चन, पितरों के लिए श्राद्ध करने से कष्ट दूर होंगे।
 **** जानिए की किस राशि पर होगा क्या पड़ेगा असर--- 
  •  मेष राशि-- लाभ संभावित।। 
  •  वृष राशि --: सुख मिलेगा।। 
  •  मिथुन राशि --: भय, अपमान की सम्भावना।। 
  •  कर्क राशि --: मृत्यु तुल्य कष्ट संभावित।। 
  •  सिंह राशि --: दाम्पत्य जीवन में बाधा संभावित। 
  •  कन्या राशि --: सुख - समृद्धि में लाभ होगा।। 
  •  तुला राशि --- चिंता में वृद्धि होगी।। 
  •  वृश्चिक राशि --- शारीरिक कष्ट बढ़ेंगें।। 
  •  धनु राशि-- धन लाभ होगा।। 
  •  मकर राशि---: धन हानि संभावित।। 
  •  कुंभ राशि--: दुर्घटना की सम्भावना, सावधान रहें। 
  •  मीन राशि--: कार्य क्षेत्र में बाधा, सहयोगियों से सतर्क और सावधान रहें।।

 **** जानिए की यह ग्रहण कहा कहा दिखाई देगा ????
 यह खग्रास सूर्य ग्रहण मध्यप्रदेश के उज्जैन. इन्दौर, देवास, भोपाल, खण्डवा,बुरहानपुर जबलपुर, शाजापुर, ग्वालियर, सागर के साथ साथ वाराणसी, प्रयागराज इलाहाबाद, हरिद्वार, कोलकाता, दिल्ली, पटना, रायपुर, चैन्नई, जगन्नाथ पूरी, बंगलोर, भरतपुर (राजस्थान) मे भी दिखाई देगा ।। 
 ***इन राज्यों में भी दिखाई देगा--- 
 दिल्ली,उत्तरप्रदेश,आंध्रप्रदेश,कर्णाटक,छत्तीसगढ़, उड़ीसा,बिहार, झारखण्ड,पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा,आसाम, मेघालय,नागालैंड,मध्यपूर्वी महाराष्ट्र और मध्यपूर्वी मध्यप्रदेश में ।।

 **** ज्योतिषाचार्य पण्डित " विशाल" दयानन्द शास्त्री।। 
इन्द्रा नगर, उज्जैन ( मध्यप्रदेश) 
मोबाईल नंबर--09669290067 एवम् 09039390067....।।
Edited by: Editor

आपके विचार

हिंदी में यहाँ लिखे
Ads By Google info

वास्तु

हस्त रेखा

ज्योतिष

फिटनेस मंत्र

चालीसा / स्त्रोत

तंत्र मंत्र

निदान


ऐसा भी होता है?

धार्मिक स्थल

 
Editor In Chief : Dr. Umesh Sharma
Copyright © Asha News . For reprint rights: ASHA Group
My Ping in TotalPing.com www.hamarivani.com रफ़्तार www.blogvarta.com BlogSetu